पोस्ट

फ़रवरी, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

वीर चक्र विजेता भागकर की गौरव गाथा। कारगिल युद्ध 12 जून 1999

वीर चक्र विजेता भागकर की गौरव गाथा, करगिल युद्ध में सबसे पहले 12 जून 1999 की रात को जीती थी तोलोलिंग पहाड़ी।
सेना का प्रक्रम देख तोलोलिंग से भाग छुटे थे पाकिस्तानी। करगिल युद्ध में 1999 में तोलोलिंग पहाड़ी को दुश्मनों से मुक्त करवाते समय शहीद हुए। वो रावण के वीर चक्र विजेता सूबेदार भंवरलाल भाकर के 21 वें शहादत दिवस पर उनके ग्राम रेवड़ी में, शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि सभा होगी भागकर दो राजपूताना रायफल्स में सूबेदार थे। उन्होंने 12 जून 1999 की रात तोलोलिंग पर दुश्मनो के बंकरों को नष्ट कर अद्भुत शौर्य दिखाया था।
तोलोलिंग की पहाड़ी पर तिरंगा फहराने वाले शहीद भंवरलाल भागकर के साथी झुंझुनूँ हॉल जयपुर निवासी नायक दिगेंद्र, कुमार ने बताया कि हमारी टुकड़ी में 10 जवान शामिल थे। 1999 में, कारगिल की पहाड़ियों पर खड़े लड़े गये। युद्ध मे पाक सेना पहाड़ी चोटी से तथा भारत की सेना जमीन से युद्ध कर रही थी, भारत की तरफ से लगभग 80 सैनिक फॉलो लिंक पहाड़ी मुक्त करवाने के प्रयास में वीर गति को प्राप्त हो चुके थे।
ऐसे में तत्कालीन जनरल ने पहाड़ी को जीतने का टास्क टू राजपूताना राइफल्स को दिया बटालियन ने, कर्…

भारत दौरे पर अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप आए और क्या कहा हमारे देश के लिए देखें

चित्र
पहली बार भारत में किसी राष्ट्राध्यक्ष का सवाल आप लोगों ने स्वागत किया ट्रम्प पहले अमेरिकी जिनका दुनिया में कहीं ऐसा स्वागत हुआ




गदगद ट्रिप बोले भारत एक आर्थिक महाशक्ति बन चुका है अमेरिका मिलकर कट्टर इस्लामिक आतंकवाद से निकलेगा





अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सोमवार को परिवार समेत भारत पहुंचे अहमदाबाद एयरपोर्ट से दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम तक जबरदस्त स्वागत से गदगद ट्रंप जब भीड़ को संबोधित करने उठे तो सबसे पहले भारतीय संस्कृति से खुद को बेहद प्रभावित बताया साथ ही कहा भारत एक आर्थिक महाशक्ति बन चुका है उसके बाद मोदी भारत अमेरिका से दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे तब जिक्र करते रहे सवा लाख लोगों से भरे स्टेडियम में सबसे ज्यादा तालियां तब बजे जब ट्रंप ने इस्लामिक आतंकवाद का मुद्दा उठाया शाम को ट्रंप परिवार आगरा में ताजमहल देखने पहुंचा मंगलवार को राष्ट्रपति भवन में ट्रंप का  अधिकारिक स्वागत होगा। 




स्टेडियम में 26 मिनट बोले ट्रंप इसमें 7 मिनट मोदी और भारत सरकार की तारीफ
 7 मिनट मोदी भारत सरकार पर मोदी दिन रात काम करते हैं भारत आर्थिक महाशक्ति बना कहां मोदी दिन रात काम करते हैं जीवन की शुरुआ…

Google Assistant क्या है और कैसे यूज करते हैं आइए जानते हैं।

लाइफ ऑर्गेनाइज करने के लिए कामले गूगल असिस्टेंट Google Assistant   क्या है और कैसे यूज करते हैं आइए जानते हैं।  गूगल असिस्टेंट आप अपने यूजर्स के लिए स्मार्ट स्पीकर से नहीं बल्कि स्मार्ट होम डिवाइसेज और स्मार्टफोंस में मौजूद है और दुनिया भर में मॉडर्न होम्स में अपनी एक खास जगह बना चुका है यह असिस्टेंट युद्ध के जनरल नॉलेज के सवालों का जवाब देने से लेकर आपकी ईमेल चेक करने और अपॉइंटमेंट याद दिलाने तक कोई तरीके काम कर सकता है उदाहरण के लिए अगर टाइल ट्रैकर का इस्तेमाल करते हैं तो गूगल असिस्टेंट की मदद से अपनी चाबी वॉलेट और यहां तक कि फोन को भी आसानी से ढूंढ सकते हैं साफ है कि एआई की मदद से गूगल असिस्टेंट अब हर दिन खुद को बेहतर और ज्यादा यूज़फुल बनाता जा रहा है ऐसे में अगर आप गूगल असिस्टेंट के नए यूजर है या इसके लेटेस्ट फीचर्स के बारे में जानना चाहते हैं तो यह गाइड आपके लिए मददगार होगी। 


रोजमर्रा के काम में ले सकते हैं मदद कैलेंडर में इवेंट्स चेक करने से लेकर शॉपिंग लिस्ट बनाने तक गूगल असिस्टेंट आप के लिए एक पर्सनल आर के तौर पर काम कर सकता है उदाहरण के तौर पर इससे आप पूछ सकते हैं कि दिन में…

Best 10 Smartphone under 10000 in india

चित्र
एंट्री लेवल स्मार्टफोंस जो आपकी जेब   पर नहीं पड़ेंगे भारी

Best Smartphone under 10000 in india
अभी स्मार्टफोन लगभग हर आदमी की जरूरत बन चुका है, लेकिन फिर भी आमतौर पर यूजर्स के बीच एक आम धारणा यह रहती है कि इनकी कीमत ₹10000 से शुरू होती है। हालांकि ऐसा इसलिए भी है कि इससे कम कीमत के फोन मार्केट में नजर भी कम ही आते हैं। ऐसे में कंजूमर उसके लिए इससे कम प्राइस रेंज का फोन खरीदना बहुत मुश्किल हो जाता है। अगर आप भी एक बजट फोन खरीदने की अपनी प्लानिंग को इसी वजह से पूरा नहीं कर पा रहे हैं तो आपको यह जानकर खुशी होगी कि ऐसे कई मॉडल्स है जिन्हें आप साडे ₹7,500 की प्राइस रेंज के अंदर खरीद सकते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि इस लिस्ट में आपको 4GB रैम और 64GB इंटरनल स्टोरेज जैसे फीचर्स और बेहतरीन स्टाइल वाले फोन भी मिल जाएंगे। यहां ऐसे ही कुछ मॉडल्स के फीचर्स और उनकी कीमतों के बारे में जानकारी शेयर की जा रही है, आप भी जानिए-

Motorola Moto E6s

इस प्राइस रेंज में केवल यही एक ऐसा कौन है जो आपको 4GB रैम और 64GB इंटरनल स्टोरेज देता है। तो अगर आप एक ही समय में कई एप्स रन करना चाहते हैं तो यह आपके लिए ए…

इस साल कोई नहीं मनाएगा 14 February ko Valentine Day Kyunki

चित्र
14 February Black Day 2019छुट्टी से लौट रहे थे, जवान तभी कार से हुई टक्कर बस के हो गए थे?  चिथड़े- चिथड़े.... आइए एक बार फिर नमन करते हैं उन 40 वीर जवानों को जिन्होंने पुलवामा हमले में अपनी जान गवा दी। इस साल कोई नहीं मनाएगा 14 February ko Valentine Day Kyunki

आइए जानते हैं क्या हुआ 14 फरवरी 2019 को पुलवामा हमले में  जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले में जो हमला हुआ आज 1 साल होने को है 14 जनवरी 2019 को नेशनल हाईवे पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें हमारे 40 जवान शहीद हो गए थे हमला जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपोरा के  पास  लेंथपोरा में हुआ था। जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित इस्लामिक आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।  हालांकि, पाकिस्तान ने हमले की निंदा की थी और जिम्मेदारी लेने से इनकार कर दिया था।

14 फरवरी 2019 को सीआरपीएफ का काफिला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था। सीआरपीएफ के लगभग 25 जवान 78 गाड़ियों में सवार थे। इनमें ज्यादातर जवान हुए थे जब छुट्टी से वापस ड्यूटी पर लौटे थे।   काफिला जब जम्मू-कश्मीर Highway per awantipura  इलाके के पास pahuncha तभी 3:15 बजे 100 किलो …

वर्दी में गद्दार

चित्र
वर्दी में गद्दार:फौज में 1 साल में ही पकड़े गए तेरा जासूसवर्दी में गद्दार हाल ही में देश तब सकते में आ गया है, जब जम्मू-कश्मीर पुलिस का डीएसपी देवेंद्र सिंह आतंकियों के साथ पकड़ा गया। इसके पुलवामा हमले तक में शामिल होने की बात कही जा रही है। भास्कर ने देवेंद्र जैसे अन्य वर्दी धारी गद्दारों की पड़ताल की तो कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए पिछले 9 वर्षों में 32 सैन्य कर्मी और बीएसएफ के जवान पाकिस्तान के लिए जासूसी करते पकड़े गए या पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के हनी ट्रैप में फंसे इनमें से अधिकांश मामले में यह जवानी स्मार्टफोन और सोशल मीडिया के चक्कर में फंसे हैं। जासूसी के आरोप में पकड़े गए इन सर्विस पर्सनल में 15 आर्मी के साथ नेवी के और दो एयरफोर्स के हैं। इनके अलावा डीआरडीओ की नागपुर स्थित ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट का इंजीनियर सिविल डिफेंस का एक बीएफ के 4 जवान और 3 एक्स सर्विसमैन शामिल है। इस बात पर चिंता जाहिर करते हुए सेना के रिटायर्ड ब्रिगेडियर रविंद्र कुमार बताते हैं। कि रिक्रूटमेंट के समय से ही दुश्मनों की नजर जवानों पर रहती है। कुछ लोग पहले से आतंकियों में आईएसआई के संपर्क में होते हैं। …

जैफ बेजॉस के जीवन की कहानी

चित्र
नौकरी छोड़ ऑनलाइन बेचने लगे किताबे सफलता मिली तो जोड़ते चले गए नए प्रोडक्ट्सजैफ बेजॉस के जीवन की कहानी जैफ बेजॉस का जन्म 12 जनवरी 1964 को अमेरिका के न्यू मैक्सिको में हुआ था। जब वह पैदा हुए तब उनकी मां जैकलिन हाई स्कूल में पढ़ाई कर रही थी, और उनकी उम्र केवल 17 साल थी। उनके पिता का नाम टेड जुर्गेनसेन था वह बाइक की दुकान के मालिक थे जेफ लेवल 18 महीने के थे। जब उनके पिता उन्हें और उनकी मां को छोड़ कर चले गए थे। इसके बाद कुछ साल तक उनकी मां ने उन्हें अकेले ही संभाला था। जब जब 4 साल के हुए तो उनकी मां ने मीगवेल  बेजोस से शादी कर ली इसके बाद जब अपना सरनेम   बेजोस लिखने लगे थे। उनका परिवार हॉस्टल रहने चला गया। जेब अपने खिलौनों के कल पुर्जे अलग कर देते थे और फिर जोड़ते थे। शुरू से ही अपनी उम्र के बच्चों से अलग थी। मुझे अपने रिवॉक्स एलिमेंट्री स्कूल से अपनी शुरुआती पढ़ाई की उन्होंने शुरू से ही खुद को टेक्नोलॉजी की दुनिया में साबित किया था। बचपन में अपने भाई बहन की सुरक्षा के लिए उन्होंने एक इलेक्ट्रिक अलार्म भी बनाया था। आगे चलकर उनका परिवार मियां में चला गया यहां से अपने पलमेटो हाई स्कूल में…