पोस्ट

मार्च, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

वीर चक्र विजेता भागकर की गौरव गाथा। कारगिल युद्ध 12 जून 1999

वीर चक्र विजेता भागकर की गौरव गाथा, करगिल युद्ध में सबसे पहले 12 जून 1999 की रात को जीती थी तोलोलिंग पहाड़ी।
सेना का प्रक्रम देख तोलोलिंग से भाग छुटे थे पाकिस्तानी। करगिल युद्ध में 1999 में तोलोलिंग पहाड़ी को दुश्मनों से मुक्त करवाते समय शहीद हुए। वो रावण के वीर चक्र विजेता सूबेदार भंवरलाल भाकर के 21 वें शहादत दिवस पर उनके ग्राम रेवड़ी में, शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि सभा होगी भागकर दो राजपूताना रायफल्स में सूबेदार थे। उन्होंने 12 जून 1999 की रात तोलोलिंग पर दुश्मनो के बंकरों को नष्ट कर अद्भुत शौर्य दिखाया था।
तोलोलिंग की पहाड़ी पर तिरंगा फहराने वाले शहीद भंवरलाल भागकर के साथी झुंझुनूँ हॉल जयपुर निवासी नायक दिगेंद्र, कुमार ने बताया कि हमारी टुकड़ी में 10 जवान शामिल थे। 1999 में, कारगिल की पहाड़ियों पर खड़े लड़े गये। युद्ध मे पाक सेना पहाड़ी चोटी से तथा भारत की सेना जमीन से युद्ध कर रही थी, भारत की तरफ से लगभग 80 सैनिक फॉलो लिंक पहाड़ी मुक्त करवाने के प्रयास में वीर गति को प्राप्त हो चुके थे।
ऐसे में तत्कालीन जनरल ने पहाड़ी को जीतने का टास्क टू राजपूताना राइफल्स को दिया बटालियन ने, कर्…

राजस्थान में 33 हुई मरीजों, की संख्या आज से नहीं चलेंगे। निजी वाहन स्टेट हाईवे बंद।

लोकडाउन के बाद आवाजाही पूरी तरह बंद प्रतापगढ़, में, जोधपुर में करो ना के दो-दो नये मरीज।
पंजाब, महाराष्ट्र में कर्फ्यू लगाया सरकारी व निजी बैंक 10 से दो बजे तक ही। फरवरी का जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख साथ अप्रैल तक बढ़ी।
सामुदायिक स्तर पर एक आदमी से दूसरे में कल ना वायरस फैलने के रोकने। के लिए देश के इक्कीस राज्यों में लोग डाउन हो चुका है लेकिन कई इलाकों में लोग घरों से बाहर निकले सोमवार को प्रतापगढ़ हो जाओ तुम्हें दो दो मरीज सामने आए इसी के साथ राजस्थान में मरीजों की संख्या तैंतीस पहुँच गयी है इसी बीच प्रदेश सरकार ने अब स्टेट हाईवे बंद कर दिया है साथ ही मंगलवार से ही निजी वाहनों पर भी रोक लगा दी है सीएम अशोक गहलोत ने कहा इस दौरान आवश्यक सेवाओं और छूट वाली सेवाओं से संबंधित वाहनों को ही अनुमति दी जायेगी सीएम ने कहा कि लोग डाउन को ही कर्फ्यू माना जायेगा अगर लापरवाही बरती गई तो प्रदेशभर में कर्फ्यू लगा दिया जायेगा इधर लोगों को घरों में रखने के लिए पंजाब मा राष्ट्र और पुडुचेरी में इकतीस वार तक कर्फ्यू लगा दिया गया है इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों के से लॉक डाउन …

कैलाश मानसरोवर यात्रा में अब पैदल नहीं बल्कि वाहन से जा सकेंगे यात्री।

कैलाश मानसरोवर यात्रा में अब 79 किमी की पदयात्रा नहीं, 3 दिन में वाहन से पहुँच सकेंगे।
सबसे दुर्गम तीर्थ यात्रा।60 किमी सड़क तैयार चाय किमी का बच्चा काम इस साल पूरा हो जायेगा। सबसे दुर्गम कैलाश मानसरोवर  यात्रा का उत्तराखंड वाला रास्ता सुगम होने जा रहा है। इस रास्ते पर पहले छह दिन में 79 किमी पैदल यात्रा करनी पड़ती थी।  अब यह सफर वाहन से तीन दिन में पूरा कर सकेंगे। अब यहां सड़क निर्माण लगभग पूरा हो गया है। यात्री अल्मोड़ा या पिथौरागढ़ होते हुए चीन सीमा से लगे लिपूलेख तक गाड़ियों से पहुँच सकेंगे। घटियाबगर से लिपूलेख के बीच करीब 60 किमी लंबी सड़क तैयार हो गयी है। सिर्फ 4 किमी सड़क का निर्माण बाकी है, जो इस साल के अंत तक पूरा हो जायेगा। कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए सड़क का निर्माण 2007 में घटियाबगर से शुरू हुआ था, पर 2014 तक निर्माण की गति बहुत धीमी रही। काम तेज करने के लिए चीन से माँ से लगे गूंजी। से, भी सड़क बनाने, की योजना बनाई गई, लेकिन यह कठिन था। इसमें सबसे बड़ी चुनौती 14 हजार फीट ऊँचाई पर गूंजी तक उपकरणों को पहुंचना था।  जेसीबी, बुलडोजर रोड रोलर जैसे बाहरी उपकरणों, के पार्ट्स गूं…

कोरोना वायरस दवा इंडस्ट्री के विकास पर खर्च होगे 2000 करोड़।

रसायन और उर्वरक मंत्रालय की ओर से तैयार किये। गए प्रस्ताव पर अलग-अलग मंत्रालयों, से राय लेने, के बाद, कैबिनेट में किया जायेगा पेश। कोरोना वायरस से भारतीय दवा उद्योग के सामने पैदा हुए संकट में स्थायी तौर पर निपटने के लिए भारत सरकार ने पहल शुरू कर दी है। कच्चे माल के लिए चीन पर से निर्भरता खत्म करने और देश में ड्रग इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने दो हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का प्रावधान करने की योजना तैयार कि है। कैबिनेट नोट तैयार किया जा रहा है, जो इसी माह कैबिनेट में पेश किया जायेगा। रसायन और उर्वरक मंत्रालय के फार्मा विभाग की ओर से कैबिनेट नोट तैयार किया जा रहा है। पिछले दिनों सरकार की ओर से बनाई गई एक कमेटी ने भारत में ड्रग सिक्योरिटी के लिए मज़बूत कदम उठाने की सिफारिश की थी।  भारत में एफडीआई तैयार करने, पर, चीन, की, तुलना में जो कीमतों में, अंतर होगा उसे कुछ हद तक भारत सरकार पूरा कर सकती। है संभव, है कैबिनेट नोट में यह शर्त रखी जाये कि उन्हीं कंपनियों को इसका लाभ मिलेगा जो अपनी एफडीआई का, इस्तेमाल, भारत, के, मरीजों, के, लिए ही करें। भारत अगले पांच से सात वर्षों में, चीन …
चित्र
कोरोना वायरस से लड़ने में महिलाओं की प्रतिरोधक क्षमता पुरुषों से बेहतर। 


कोरोना वायरस। को लेकर चाइनीज सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने अब तक की सबसे बड़ी स्टडी की है।इसमें पता चला। है कि महिला, और पुरुष समान रूप से इस वायरस की चपेट में आ रहे हैं, लेकिन वायरस से लड़ने के मामले में महिलाओं का इम्यून सिस्टम बेहतर साबित हो रहा है। वायरस से प्रभावित पुरुषों की मृत्यु दर 2.8% है, जबकि महिलाओं में मृत्यु दर 1.7% है। महामारियों से लड़ने के मामले में महिलाएं और उनका इम्यून सिस्टम हमेशा से ही बेहतर रहा है। 2003 में हांगकांग मैं सोर्स वायरस फैलने के दौरान भी यही तथ्य सामने आया था। जब मिडिल ईस्ट लैबोरेट्री सिंड्रोम (एमआईआरएस) फैला था, तब भी प्रभावितों में से 32% पुरुषों और 26 % महिलाओं की मौत हुई थी। 1918 में फैली इन्फ्लुएंजा महामारी के दौर से ही महिलाओं का इम्यून सिस्टम बेहतर साबित हो रहा है। जौन शॉपिंग ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ कई वैज्ञानिक सावरा क्लाइंट कहती हैं कि स्वस्थ तंत्र पर होने वाले वायरल इंफेक्शन के मामले में यह बात-बार सामने आई। है कि पुरुषों, का इम्यून सिस्टम कमजोर हो…