सोमवार, 28 सितंबर 2020

self value😎😎😎


खुद की कीमत (सेल्फ वैल्यू) 
दुनिया में हर चीज की कीमत होती हैं , यह बात सब को पता है।  हर चीज की कीमत भी तय की जा सकती हैं , कीमत बदली भी  जा सकती  हैं और अपने अनुसार कीमत रखी भी। जा सकती हैं। एक व्यक्ति खुद  तो  दूसरों के लिए कीमत रख सकता है लेकिन क्या उसको खुद की कीमत का पता होता है ,तो आज एक कहानी के माध्यम से पता करते हैं खुद की कीमत क्या होती हैं।
                          एक लड़का होता है जो अपने पापा के पास आकर उनसे कहता है कि पापा मुझे आपसे कुछ पूछना चाहता हूं ,आप मेरे एक सवाल का जवाब दीजिए । उस लड़के के पिता ने कहा कि पूछो , लड़का अपने पिता से पूछता है कि "पापा क्या आप मेरी वैल्यू मुझे बता सकते हैं?"  लड़के के पिता कुछ समय के लिए चुप रहे वह कुछ बोले नहीं । कुछ समय बाद लड़के के पिता ने  उसे बुलाया और उसे एक पत्थर दिया और कहा कि जाओ इसे तुम्हे बेचना है ।  जब भी कोई तुमसे ये पत्थर की कीमत पूछे तो तुम चुप रहना और अपनी दो उंगलियां खड़ी कर देना है। लड़का पत्थर लेकर बाज़ार में गया उसे बेचने के लिए और वहां वह काफी समय तक खड़ा रहा और कोई नहीं आया  उस पत्थर को खरीदने । आखिर में एक बुढिया औरत आती हैं उस लड़के के पास और उससे उस पत्थर की कीमत पूछती हैं । लड़का अपने पिता के कहे अनुसार कुछ नहीं बोलता है और सिर्फ अपनी दो उंगलियां खड़ी कर देता हैं । बुढिया औरत उस लड़के को बोलती हैं कि इस पत्थर के मै तुम्हे 200 रुपए देती हूं और तुम मुझे ये पत्थर दे दो। लड़का दौड़ता हुआ अपने पिता के पास आता है और अपने पिता से कहता है कि बाजार में एक बुढिया थी जो इस पत्थर के 200 रुपए दें रही थी । एक बार फिर लड़के के पिता ने उसे उस पत्थर को बेचने को बोला और कहा कि अबकी बार तुम इस पत्थर को लेकर  म्यूजियम में जाओ । लड़का पत्थर लेकर म्यूजियम में जाता है और वह पर वह खड़ा हो जाता है उस पत्थर को हाथ में लेकर  कुछ समय बाद  उस म्यूजियम के मालिक की उस लड़के पर नज़र पड़ती हैं और वह उस लड़के के पास जाता है । वह उस लड़के से उसके हाथ में जो पत्थर होता है उसकी कीमत उससे पूछता है ।लड़का पहले कि तरह कुछ नहीं बोलता है और उस म्यूजियम के मालिक के कीमत पूछे जाने पर वह अपनी दो उंगलियां खड़ी कर देता है , म्यूजियम का मालिक दो उंगलियां देखकर संकोच में पड़ जाता है और वह उस लड़के को उस पत्थर की कीमत 20000 हजार रूपए देने के लिए राजी हो जाता है । लड़का दौड़ता हुआ फिर  से अपने पिता के पास आकर बोलता है कि म्यूजियम में उस पत्थर के उसे 20000 हजार रुपए मिल रहे थे । लड़के के पिता ने उससे कहा कि अब मैं तुम्हे आखिरी जगह भेज रहा हूं इस पत्थर को बेचने के लिए  इस बार तुम्हे ये पत्थर लेकर कीमती पत्थरों की दुकान पर जाना हैं । लड़का अपने पिता के कहे अनुसार कीमती पत्थरों की दुकान पर  गया उस पत्थर को लेकर और वहां वह पत्थर लेकर खड़ा हो गया बेचने के लिए ।काफी समय के बाद एक बूढ़ा आदमी आता है  दुकान के अंदर से और उसकी नजर उस लड़के पर पड़ती है और वह उसके पास  जाता है और उसके हाथ में  वह पत्थर देखकर बोलता की  इस पत्थर की मुझे बहुत वर्षों से तलाश थी  ये पत्थर तुम्हारे पास कहां से आया  । वह बूढ़ा आदमी उस लड़के से उस पत्थर की कीमत पूछता है और लड़का कुछ नहीं बोलता है और सिर्फ अपनी दो उंगलियां खड़ी कर देता हैं उसके सामने । वह बूढ़ा आदमी भी संकोच में पड़ जाता ।  वह बूढ़ा आदमी उस लडके को बोलता है कि "मैं तुम्हे इस पत्थर के 200000 लाख रूपए देता हूं तुम मुझे ये पत्थर दे दो । लड़का फिर से अपने पिता के पास आता है और बोलता है कि  कीमती पत्थरों की दुकान पर मुझे एक बूढ़ा आदमी मिला और वह इस पत्थर के 200000 लाख रुपए देने को तैयार था । लड़के के पिता ने लड़के से  कहा कि   अब मैं तुम्हारे सवाल का जवाब देता हूं  । लड़के के पिता कहते हैं कि जब तुम पहली बार इस पत्थर को लेकर बाजार में गए तब तुम्हे कोई इसकी कीमत 200 रुपए देने को तैयार था । लेकिन जब तुम  इस पत्थर को लेकर म्यूजियम में गए तब इस पत्थर के तुम्हे कोई 20000  हजार रूपए दे रहा था और आखिर में जब तुम इस पत्थर को लेकर कीमती पत्थरों की दुकान पर गए  तो तुम्हे इसकी कीमत 200000  लाख रूपए मिल रही थी। लड़के के पिता उस लड़के से कहते हैं कि  तुमने पत्थर को तीन जगह रखा तो उसकी कीमत अलग - अलग  हो गई । इसी प्रकार तुम्हारी भी यह कीमत हैं कि तुम अपने आप को जीवन  कहां रखते  हो  वहीं तुम्हारी  कीमत होगी  ।  
        
#  जीवन में तुम अपने आप को किन लोगो के साथ में रखते हो कहां रखते हो  वहीं तुम्हारी कीमत होगी । 


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

self value😎😎😎

खुद की कीमत (सेल्फ वैल्यू)  दुनिया में हर चीज की कीमत होती हैं , यह बात सब को पता है।  हर चीज की कीमत भी तय की जा सकती हैं , कीमत बदली भी  ज...